आखिर कोपर खैरने ही क्यों बन रहा है अपराधिक तत्वों का अड्डा ? - Bharat Samvad

Post Top Ad

Saturday, December 3, 2022

आखिर कोपर खैरने ही क्यों बन रहा है अपराधिक तत्वों का अड्डा ?

 अवैध धंधो पर नकेल कसने में पुलिस असमर्थ क्यों ?


भारत संवाद/नवी मुंबई-: नवी मुंबई पुलिस आयुक्तालय के अंतर्गत कोपर खैरने में ही आखिर क्यों बढ़ रहे हैं अवैध कारोबार ? क्यों बनता जा रहा है मादक पदार्थो की विक्री का अड्डा ! इस तरह के सवाल अब आम नागरिकों द्वारा उठाए जा रहे हैं। कोपर खैरने पुलिस की हद में अवैध रूप से मादक पदार्थों की विक्री, ऑनलाइन जुगार (जुआँ) मटका के साथ अवैध निर्माण का कार्य भी धड़ल्ले से चल रहा है, परंतु संबंधित विभाग कुंभकर्णी नींद में सो रही है। शहर में बढ़ रहे अवैध धंधे एवं अपराधिक वारदातों को लेकर स्थानीय नागरिकों द्वारा पुलिस पर सवाल उठाए जा रहे हैं ! 

ज्ञात हो कि नवी मुंबई परिक्षेत्र में इन दिनों अवैध कारोबार का मामला धीरे-धीरे तूल पकड़ रहा है। पूरी नवी मुंबई की नही बल्कि कोपर खैरने क्षेत्र की बात करें तो लगभग 25 के आसपास अवैध ऑनलाइन लॉटरी (जुगार) के अड्डे चल रहे हैं ! इस तरह से अगर नवी मुंबई में अवैध ऑनलाइन लॉटरी की गणना की जाए तो तकरीबन डेढ़ सौ से ज्यादा अवैध रुप से जुगार का कारोबार फलफूल रहा है, और संबंधित विभाग पूरी तरह से चुप्पी साधे बैठा है ! आखिर प्रशासन की क्या मजबूरी है कि इन अवैध कारोबारियों पर नकेल नही कसा जा रहा है। कहा तो यह जा रहा है कि ऐसे अवैध धंधों को स्थानीय पुलिस का संरक्षण प्राप्त है ! अगर ऐसा नही है तो पुलिस क्यों नहीं ऐसे लोगों पर नकेल कस रही है ! हालांकि इस तरह के अवैध धंधे सिर्फ कोपर खैरने में ही नही पूरे नवी मुंबई में पनप रहा है। जैसे कि घनसोली स्टेशन, सानपाड़ा स्टेशन के सामने, वाशी सेक्टर-19 स्थित ट्रक टर्मिनल के पास सहित अन्य क्षेत्रों एवं झोपड़पट्टी इलाकों में खुलेआम काला-पीला जुगार का खेल चल रहा है, इस अवैध धंधे में कई लोगों की एक टीम रहती है और आने-जाने वाले राहगीरों को अपनी जाल में फंसाकर उनके साथ जबर्दस्ती लूटपाट की घटना को अंजाम देते हैं! भुक्तभोगी अगर पुलिस स्टेशन में शिकायत करने पहुंच जाए तो जैसे गुनहगार वही है ! पुलिस इतना सवाल दागने लगती है कि वह बौखलाकर मजबूर होकर पुलिस स्टेशन से उसे खाली हाँथ लौटना पड़ता है! इस तरह के कई वारदात सामने आ चुका है ! ऐसे में स्थानीय नागरिकों द्वारा यह सवाल उठाया जा रहा है कि जैसे संबंधित विभाग की तरफ से इन्हें पूरी छूट दिया गया हो ? हालांकि कोपर खैरने एवं घनसोली में विरोध के बाद बंद रखा गया है, परंतु तुर्भे, सानपाड़ा एवं कोपर खैरने जैसे अन्य क्षेत्रों में ऑनलाइन लॉटरी के माध्यम से अवैध जुगार (जुआँ) के जरिए युवाओं का भविष्य अंधकार में धकेला जा रहा है, तथा अपराध को बढ़ावा दिया जा रहा है? इस मामले को लेकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की तरफ से हाल ही में पुलिस आयुक्त को एक ज्ञापन देकर शिकायत की गई थी। 

नवी मुंबई शहर में इन्हीं लोगों की वजह से अपराधिक घटनाओं में वृद्धि हो रही है और पुलिस मूकदर्शक बनी तमाशा देख रही है! कोपर खैरने का कुछ क्षेत्र जैसे मादक पदार्थो की विक्री का केंद्र बन गया है, यहाँ आए दिन मारपीट, लूटपाट, छेंड़खानी जैसी घटना अब आम होती जा रही है! दो दिन पहले कोपर खैरने सेक्टर-2 में नशेड़ियों द्वारा छेड़खानी किए जाने का स्थानीय रहिवासियों ने विरोध किया तो खूब हंगामा हुआ और लगभग 40 से ज्यादा स्थानीय लोग स्थानीय नगरसेवक के साथ देर रात जब पुलिस स्टेशन शिकायत करने पहुंचे तो वहाँ एक पुलिस अधिकारी यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि ऐसे लोगों को हम पुलिस स्टेशन भी नही ला सकते क्योंकि नशेड़ियों को यहाँ लाना सिरदर्द है ! नागरिकों द्वारा यह सवाल उठाया जा रहा है कि आखिर ऐसे अपराधिक तत्वों के खिलाफ अब किसका दरवाजा खटखटाएं।

No comments:

Post a Comment

भारत संवाद

भारत संवाद हिंदी समाचार पत्र एवं आनलाइन न्यूज पोर्टल, पल-पल की ख़बरों के साथ वह भाव व विचार जिससे जनता में उत्साह प्रेरणा जगे, जिससे लोग आत्महित, देशहित, समाजहित तथा जनहित में कार्य करने को तत्पर हो सकें को प्रचारित प्रसारित करने में लगा है। भारत संवाद भारतीय विचार, सभ्यता और संस्कृति को प्रचारित करने की एक धारा है। जो आपसी संवाद के जरिए आगे बढ़ रही है। हम देश के कोने कोने से जन संवाद के जरिए भारत की आत्मा बसुधैव कुटुम्बकम्(धरती ही परिवार है) भावना को आगे बढ़ाने को कृतसंकल्प हैं। इसमें हमें अभूतपूर्व सहयोग मिल रहा है। देश के अनेकों प्रदेश के साथ साथ विदेशों सें भी हमारे पाठक और विचारक इस मुहीम में आपना सहयोग दे रहे हैं। सभी में बैठे परमात्मा को शत शत प्रणाम।

MAIN MENU

\