पारसनाथ तिवारी एनसीपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बने - Bharat Samvad

Advertisement

Breaking

Post Top Ad

Friday, September 23, 2022

पारसनाथ तिवारी एनसीपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बने

कल्याण मुंबई भारत संवाद संवाददाता सुप्रसिद्ध समाजसेवी और एनसीपी के पूर्व कोआर्डिनेटर पारसनाथ तिवारी को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बनाया गया। तिवारी के नाम की सिफारिश उत्तर प्रदेश राज्य इकाई द्वारा की गई थी जिस पर केंद्रीय नेतृत्व ने मुहर लगा दी। हाल ही में नई दिल्ली में संपन्न हुए एनसीपी के राष्ट्रीय अधिवेशन के दौरान तिवारी पार्टी प्रमुख शरद पवार से मिले थे और उनसे संगठन को लेकर लम्बी बातचीत की थी। अपनी नियुक्ति पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए तिवारी ने कहा कि यूपी इकाई और केंद्रीय नेतृत्व ने उनके ऊपर जो विश्वास दिखाया है उस पर वे खरा उतरने का प्रयास करेंगे। तिवारी ने कहा कि पार्टी का पूरे देश में विस्तार करना और शरद पवार को प्रधानमंत्री बनते देखना उनका प्रमुख सपना है। उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात का गर्व है कि वे ऐसी पार्टी में काम करते हैं जिसके नेता शरद पवार हैं। बता दें कि तिवारी राकांपा के कोआर्डिनेटर और केंद्रीय उपभोक्ता मामले,खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय भारत सरकार कृषि भवन नई दिल्ली में तीन बार हिंदी सलाहकार के पद पर काम कर चुके हैं। वे महाराष्ट्र एनसीपी में चार बार सचिव और तीन बार महासचिव भी रह चुके हैं। पेशे से भवन निर्माता तिवारी उत्तर भारतीय संघ मुम्बई व उत्तर भारतीय समाज कल्याण परिषद कल्याण के ट्रस्टी,यात्री सेवा सुविधा संगठना और नागरिक लोकाधिकार संरक्षण मंच के संस्थापक अध्यक्ष हैं। वे पीटीआरएस हाई स्कूल टिटवाला और होली किड्स जोन स्कूल टिटवाला के संचालक और सामाजिक सद्भावना अभियान के संयोजक भी हैं। इसके साथ ही साथ तिवारी अनेक सामाजिक संगठनों से जुड़े हुए हैं। तिवारी की नियुक्ति पर पत्रकार सुरेंद्र मिश्र, अरुण सक्सेना, रमेश मोदी, पूर्व सैनिक जनार्दन पाटिल, डाक्टर वीरेंद्र मिश्र, लक्ष्मीकांत शुक्ला , कमलेश तिवारी सहित अनेक लोगों ने हर्ष प्रकट किया है तथा उन्हें बधाई दी है।

No comments:

Post a Comment

भारत संवाद

भारत संवाद हिंदी समाचार पत्र एवं आनलाइन न्यूज पोर्टल, पल-पल की ख़बरों के साथ वह भाव व विचार जिससे जनता में उत्साह प्रेरणा जगे, जिससे लोग आत्महित, देशहित, समाजहित तथा जनहित में कार्य करने को तत्पर हो सकें को प्रचारित प्रसारित करने में लगा है। भारत संवाद भारतीय विचार, सभ्यता और संस्कृति को प्रचारित करने की एक धारा है। जो आपसी संवाद के जरिए आगे बढ़ रही है। हम देश के कोने कोने से जन संवाद के जरिए भारत की आत्मा बसुधैव कुटुम्बकम्(धरती ही परिवार है) भावना को आगे बढ़ाने को कृतसंकल्प हैं। इसमें हमें अभूतपूर्व सहयोग मिल रहा है। देश के अनेकों प्रदेश के साथ साथ विदेशों सें भी हमारे पाठक और विचारक इस मुहीम में आपना सहयोग दे रहे हैं। सभी में बैठे परमात्मा को शत शत प्रणाम।

MAIN MENU

\