अखिल भारतीय ब्राम्हण सभा डोंबिवली के तत्वाधान में सुंदरकांड का भव्य आयोजन - Bharat Samvad

add

Post Top Ad

Tuesday, September 27, 2022

अखिल भारतीय ब्राम्हण सभा डोंबिवली के तत्वाधान में सुंदरकांड का भव्य आयोजन

भारत संवाद संवाददाता कल्याण/मुम्बई अखिल भारतीय ब्राम्हण सभा डोंबिवली के तत्वाधान में डोंबिवली पश्चिम स्थित श्री शिव मंदिर प्रांगण में मासिक सुंदरकांड का भव्य आयोजन किया गया। जिसमे हिंदी भाषी जनता परिषद अध्यक्ष पंडित विश्वनाथ दुबे प्रमुख अतिथि रहे। संस्था के संस्थापक अध्यक्ष डॉक्टर राजकुमार पाठक ने बताया के लोग अपनी संस्कृति से जुडे रहे इसलिए पौराणिक ग्रन्थों का पठन-पाठन होता रहाना चाहिए। इसी उद्देश्य से संस्था अपने देखरेख में विभिन्न पौराणिक ग्रंन्थों का पठन-पाठन करवाती रहती है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे पंडित विश्वनाथ दुबे ने अपने संबोधन में कहा कि रामचरित्र मानस एक पावन ग्रंथ है, जिसमें जीवन का हर आयाम है। इसकी एक एक चौपाई मंत्र है। जिसके अध्ययन से जीवन में समरसता आती है। घर के प्रत्येक व्यक्ति को रामचरित मानस का अध्ययन करना चाहिए। इसके अध्ययन से रोम रोम पुलकित हो जाता है। नियमित अध्ययन से जीवन सत्मार्ग पर अग्रसर हो जाता है। संस्था का कार्यक्रम अत्यंत पुनीत कार्य है। मानस शब्द जो मंत्र की भांति है के श्रवण से पूरा वातावरण शुद्ध होता है। इस कार्यक्रम के लिए संस्था का अत्यंत आभार है। कार्यक्रम में प्रमुख रुप से डॉ हेमंत मिश्रा ,विरेंद्र तिवारी , अजय मिश्रा, रजनीश तिवारी, सुरेंद्र , निशाकांत मिश्र, शशिभूषण दुबे, उपस्थ्ति रहे। राहुल दुबे ने प्रमुख भूमिका निभाई, गायक बब्बू ने समां बांध दिया।

No comments:

Post a Comment

भारत संवाद

भारत संवाद हिंदी समाचार पत्र एवं आनलाइन न्यूज पोर्टल, पल-पल की ख़बरों के साथ वह भाव व विचार जिससे जनता में उत्साह प्रेरणा जगे, जिससे लोग आत्महित, देशहित, समाजहित तथा जनहित में कार्य करने को तत्पर हो सकें को प्रचारित प्रसारित करने में लगा है। भारत संवाद भारतीय विचार, सभ्यता और संस्कृति को प्रचारित करने की एक धारा है। जो आपसी संवाद के जरिए आगे बढ़ रही है। हम देश के कोने कोने से जन संवाद के जरिए भारत की आत्मा बसुधैव कुटुम्बकम्(धरती ही परिवार है) भावना को आगे बढ़ाने को कृतसंकल्प हैं। इसमें हमें अभूतपूर्व सहयोग मिल रहा है। देश के अनेकों प्रदेश के साथ साथ विदेशों सें भी हमारे पाठक और विचारक इस मुहीम में आपना सहयोग दे रहे हैं। सभी में बैठे परमात्मा को शत शत प्रणाम।

MAIN MENU

\