कोपर खैरने पुलिस पर नशेड़ियों एवं शरारती तत्वों को बचाने का आरोप ! - Bharat Samvad

Advertisement

Breaking

Post Top Ad

Saturday, June 18, 2022

कोपर खैरने पुलिस पर नशेड़ियों एवं शरारती तत्वों को बचाने का आरोप !

नवी मुंबई-: नवी मुंबई पुलिस आयुक्तालय के अंतर्गत कोपर खैरने पुलिस स्टेशन की हद में सबसे ज्यादा नशेड़ी (चरसियों) का आतंक है, स्थानीय लोगों द्वारा बारंबार शिकायत एवं नशेड़ियों के खिलाफ रैली निकाले जाने के बावजूद भी पुलिस के कान पर जूं तक नही रेंगी और नशेड़ी कुछ दिन के लिए जगह बदल देते हैं उसके बाद फिर उत्पात मचाना शुरू कर देते हैं। आखिर क्या वजह है कि नशेड़ी बेखौफ होकर लोगों को सताते हैं, सवाल तो ऐसे में यह खड़ा होता है कि कहीं इनको पुलिस का संरक्षण तो नही प्राप्त है ? कोपर खैरने पुलिस की हद में आए दिन चरसियों के आतंक से स्थानीय लोगों में भय का माहौल बनता जा रहा है, महिलाओं एवं युवतियों का दिन ढलने के बाद घर से बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है, ऐसे में कई बार पुलिस को सूचना दिए जाने के बाद भी कोई कड़ा एक्शन नही लिया जा रहा है। कुछ लोगों का तो यहाँ तक कहना है कि रात को यही नशेड़ियों का गिरोह बंद घरों में ताला तोड़कर चोरी जैसी घटना को अंजाम देते हैं, देर रात खड़ी मोटरसाइकिल से पेट्रोल की चोरी करना तथा रात में कोपर खैरने घनसोली रेल्वे मार्ग पर राहगीरों से छिनैती जैसे घटना को अंजाम देते हैं। इन चरसियों की वजह से आसपास का माहौल बिगड़ने के साथ साथ छोटे बच्चों का भविष्य बर्बाद कर रहे हैं। इतना ही नही छोटे बच्चों को पैसे की लालच देकर उनसे नशीले पदार्थों की विक्री करवाते हैं। कोपर खैरने सेक्टर-1 स्थित भाग्यलक्ष्मी बुक स्टोर्स से लेकर साजन जनरल स्टोर्स दुकान तक नशेड़ियों ने अपना अड्डा बना लिया है, इन चरसी गिरोह में कुछ स्थानीय शरारती तत्वों के साथ बाहरी लोगों की भीड़ ज्यादा जुट रही है। स्थानीय नागरिकों का यह भी कहना है कि बैठी चालियों में रहने वाले कुछ लोग मादक पदार्थ की विक्री भी करते हैं, पुलिस सब कुछ जानकर भी अनजान बनी बैठी है। आखिर कोपर खैरने पुलिस इन नशेड़ियों से कब निजात दिला पाएगी, ऐसा सवाल उठाया जा रहा है। कोपर खैरने सेक्टर-1 और 2 के नाके पर भी नशेड़ियों का एक ग्रुप अपना अड्डा बना लिया है। इसी तरह कोपर खैरने के कुछ ठिकानों पर जैसे सेक्टर-17 जिम्मी टॉवर के पीछे, सेक्टर-1 व 4 का गार्डेन, तेरना ऑर्चिड स्कूल ग्राउंड एवं मनपा स्कूल के ग्राउंड को नशेड़ियों ने अपना अड्डा बना लिया है। इसी नशेड़ी गिरोह के सदस्य रात में ओला-टैक्सी चालकों को अपना निशाना बनाते हैं, शिकायत होने के बाद पुलिस मामले को रफा-दफा कर देती है। इस तरह की एक घटना सामने आई है, ओला चालक का पीछा कर रहे तीन नशेड़ियों ने कोपर खैरने में गाड़ी का शीशा तोड़कर ड्रायवर को लूटने का प्रयास कर रहे थे लेकिन ओला चालक ने शोर मचा दिया तो लुटेरे एक्टिवा से भागने लगे,जिस पर चालक ने हिम्मत दिखाते हुए दौड़कर एक नशेड़ी को जकड़ लिया उसके बाद स्थानीय लोगों ने उसकी धुलाई करते हुए पुलिस को सूचित किया। मौके पर आई पुलिस उक्त युवक को पुलिस स्टेशन लेकर तो गई लेकिन पुलिस स्टेशन में बैठे ड्यूटी ऑफिसर ने सांठगांठ करके उक्त आरोपी को बिना किसी पूंछतांछ के छोंड़ दिया और दूसरे दिन ओला चालक को एक एनसी की कॉपी थमा दिया। कोपर खैरने पुलिस के इस रवैया से भेदभाव किए जाने का आरोप भी लग रहा है। समाजसेवा से जुड़े कुछ लोगों का कहना है कि कोपर खैरने पुलिस में शरीफों की नही बल्कि अपराधिक प्रवृत्ति के लोगों की ज्यादा सुनवाई होती है! अगर इसमें थोड़ी भी सच्चाई है तो कोपर खैरने पुलिस से लोगों का विश्वास खत्म हो जाएगा। हालांकि इस संदर्भ में कई ओला चालक पुलिस आयुक्त से मिलकर शिकायत करने की तैयारी बना रहे हैं।

No comments:

Post a Comment

भारत संवाद

भारत संवाद हिंदी समाचार पत्र एवं आनलाइन न्यूज पोर्टल, पल-पल की ख़बरों के साथ वह भाव व विचार जिससे जनता में उत्साह प्रेरणा जगे, जिससे लोग आत्महित, देशहित, समाजहित तथा जनहित में कार्य करने को तत्पर हो सकें को प्रचारित प्रसारित करने में लगा है। भारत संवाद भारतीय विचार, सभ्यता और संस्कृति को प्रचारित करने की एक धारा है। जो आपसी संवाद के जरिए आगे बढ़ रही है। हम देश के कोने कोने से जन संवाद के जरिए भारत की आत्मा बसुधैव कुटुम्बकम्(धरती ही परिवार है) भावना को आगे बढ़ाने को कृतसंकल्प हैं। इसमें हमें अभूतपूर्व सहयोग मिल रहा है। देश के अनेकों प्रदेश के साथ साथ विदेशों सें भी हमारे पाठक और विचारक इस मुहीम में आपना सहयोग दे रहे हैं। सभी में बैठे परमात्मा को शत शत प्रणाम।

MAIN MENU

\