करंट की चपेट में आने से एक 17 वर्षीय युवक की मौत - Bharat Samvad

Advertisement

Breaking

Post Top Ad

Monday, June 20, 2022

करंट की चपेट में आने से एक 17 वर्षीय युवक की मौत

नवी मुंबई जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने की जांच की मांग 

 नवी मुंबई: वाशी सेक्टर 17 स्थित एक बिल्डिंग में करंट की चपेट में आने से एक 17 वर्षीय युवक की मौत हो गई। इस मामले में वाशी पुलिस ने एडीआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं इस मामले में नवी मुंबई जिला कांग्रेस अध्यक्ष अनिल कौशिक ने जांच कर दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग की है। जानकारी के मुताबिक वाशी सेक्टर-17 स्थित सरला मनोहर बिल्डिंग में रहने वाले सिद्धांत अमित अवस्थी (17) की करंट लगने के कारण मौत हुई है। बिल्डिंग में रविवार शाम लगभग 5 बजे के करीब सिद्धांत अन्य बच्चों के साथ बिल्डिंग कंपाउंड में खेल रहा था, कि गेंद खेलते समय सिक्योरिटी केबिन के पास चला गया तो सिद्धांत गेंद लेने के लिए सिक्योरिटी केबिन के पीछे गया जहां इलेक्ट्रिक पोल था, इलेक्ट्रिक पोल में वॉयर कहीं कटा था या पोल में करंट उतर आया था यह अभी स्पष्ट नही हो पाया है। लेकिन गेंद लेने के दौरान अचानक करंट की चपेट में आने से सिद्धांत की मौत हुई है। हालांकि सिद्धांत की आवाज सुनकर इमारत के लोगों ने किसी तरह उसे करंट से निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया,जहां डॉक्टरों ने उपचार के दौरान उसे मृत घोषित कर दिया। इस घटना के बाद स्थानीय लोगों ने अस्पताल में बच्चे को लेकर काफी आक्रोश में थे। वहीं इस मामले की जानकारी होने पर नवी मुंबई कांग्रेस जिलाध्यक्ष अनिल कौशिक तुरंत अस्पताल में पहुंचकर बच्चे के परिजनों से मिलकर दोषी के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है। अनिल कौशिक ने बताया कि प्राथमिक रूप से यह लापरवाही मनपा या एमएसईबी की हो सकती है, फिलहाल इस मामले में पुलिस जांच कर रही है और जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

भारत संवाद

भारत संवाद हिंदी समाचार पत्र एवं आनलाइन न्यूज पोर्टल, पल-पल की ख़बरों के साथ वह भाव व विचार जिससे जनता में उत्साह प्रेरणा जगे, जिससे लोग आत्महित, देशहित, समाजहित तथा जनहित में कार्य करने को तत्पर हो सकें को प्रचारित प्रसारित करने में लगा है। भारत संवाद भारतीय विचार, सभ्यता और संस्कृति को प्रचारित करने की एक धारा है। जो आपसी संवाद के जरिए आगे बढ़ रही है। हम देश के कोने कोने से जन संवाद के जरिए भारत की आत्मा बसुधैव कुटुम्बकम्(धरती ही परिवार है) भावना को आगे बढ़ाने को कृतसंकल्प हैं। इसमें हमें अभूतपूर्व सहयोग मिल रहा है। देश के अनेकों प्रदेश के साथ साथ विदेशों सें भी हमारे पाठक और विचारक इस मुहीम में आपना सहयोग दे रहे हैं। सभी में बैठे परमात्मा को शत शत प्रणाम।

MAIN MENU

\